Friday, November 30, 2018

उत्तराखंड शिव मंदिर: पैसा चाहिए तो चले आए इस गांव, दूर हो जाएगी आपकी गरीबी

उत्तराखंड शिव मंदिर: पैसा चाहिए तो चले आए इस गांव, दूर हो जाएगी आपकी गरीबी

उत्तराखंड शिव मंदिर

हर इंसान जीवन में पैसा कमाने के लिए जी तोड़ मेहनत करता है, फिर भी अक्सर ज्यादा मेहनत और इन्तजार के बावजूद सफलता नहीं मिलती हैं। अगर आप भी जीवन में पैसा चाहते है तो आपके लिए एक आसान जगह के बारे में बताने जा रहे है जहां जाकर आप अपनी किस्मत का दरवाजा खोल सकते है।

जी हां, अपनी गरीबी से निजात पाने के लिए उत्तराखंड में एक ऐसी जगह है जहां जाने मात्र से आपकी गरीबी दूर हो सकती है। जी हां, हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड के चमोली जिले में मौजूद माणा गांव की। इस गांव को शापमुक्त गांव का भी दर्जा प्राप्त है।

माणा पर शिव की महिमा...

माणा को भारत का आखिरी गांव भी कहा जाता है। ऐसी मान्यता है कि माणा गांव पर भगवान शिव की ऐसी महिमा है कि यहां आने पर हर किसी की गरीबी दूर हो जाती है। साथ ही ये भी माना जाता है कि शापमुक्त गांव का दर्जा प्राप्त होने के चलते यहां आने वाले लोगों के पाप भी धुल जाते हैं।

गांव पर ईश्वर की कृपा...

ऐसा कहा जाता है कि पुराने जमाने में चमोली जिले में स्थित इस गांव से होकर भारत और तिब्बत के बीच व्यापार होता था। आपको बता दें कि बद्रीनाथ धाम से करीब 3 किलोमीटर दूर स्थित इस गांव का नाम भगवान शिव के भक्त मणिभद्र के नाम पर पड़ा है। इतिहासकारों के मुताबिक, इस गांव में आने के बाद इंसान स्वप्नद्रष्टा हो जाता है। यहां आने के बाद वो अपने जीवन में होने वाली घटनाओं को अनुभव कर सकता है।

भक्त की होने लगी पूजा...

प्राचीन मान्यताओं के अनुसार, ऐसा कहा जाता है कि एक बार माणिक शाह नाम का व्यापारी अपने काम से कहीं जा रहा था। वह भगवान शिव का बहुत बड़ा भक्त था।
रास्ते में लुटेरों ने उसका गला काटकर उसे लूट लिया। गर्दन कटने के बाद भी उसके मुंह से भगवान शिव की प्रार्थना निकली रही थी। अपने भक्त की भक्ति देखकर भगवान शंकर ने उसके वराह का सिर लगा दिया। इस घटने के बाद से वहां मणिभद्र की पूजा होने लगी।

महाभारत की रचना...

भगवान शिव ने माणिक शाह को यह वरदान दिया था कि यहां आने वाले हर इंसान की दरिद्रता दूर हो जाएगी। पुजारी बताते हैं कि अगर आपको पैसे की जरूरत है तो आप यहां गुरुवार को यहां आकर पूजा करने पर अगले गुरुवार तक आपको पैसे मिल जाते हैं।

यहां ऐसी भी मान्यता प्रचलित है कि भगवान गणेश के कहने पर वेद व्यास ने यहीं पर महाभारत की रचना की थी। इसके साथ ही महाभारत की लड़ाई समाप्त होने के बाद पांडव और द्रौपदी के साथ स्वर्गारोहण के लिए यहीं से होकर स्वर्गारोहिणी सीढ़ी तक गए थे।

ऐसे में अगर आप अपनी गरीबी दूर करने के सभी उपायों से थक चुके हैं तो एक बार माणा गांव भी आकर देखिए। क्या पता कि यहां आकर आपकी गरीबी दूर हो सकती है।

Thursday, November 29, 2018

BREAKING: इस राज्य में बहुमत में आ रही है कांग्रेस, भाजपा की हार तय

BREAKING: इस राज्य में बहुमत में आ रही है कांग्रेस, भाजपा की हार तय

BREAKING: इस राज्य में बहुमत में आ रही है कांग्रेस, भाजपा की हार तय

भोपाल। सट्टा बाजार की माने तो मध्यप्रदेश में कांग्रेस बहुमत की तरफ बढ़ती नजर आ रही है जबकि भाजपा चुनाव हार सकती है।

28 नवंबर को हुए विधानसभा चुनाव 2018 के मतदान के बाद सट्टा बाजार का रुख अब बदला हुआ है। 20 दिन पहले तक सट्टा बाजार जिस पार्टी की जीत का दावा कर रहा था, अब माहौल इससे बदलता हुआ नजर आ रहा है। प्रदेश के सट्टा बाजार का मानना है कि भाजपा चुनाव हार सकती है और कांग्रेस जीत रही है।

मध्यप्रदेश में मतदान 28 नवंबर को हो गया है। सट्टा बाजार की माने तो कांग्रेस के पक्ष में हवा है। और वह सरकार बनाने की तरफ आगे बढ़ रही है। इसी लिए कांग्रेस पर ज्यादा पैसा लगाया गया। इसके उलट मतदान आते-आते भाजपा के पक्ष में पैसा कम लगने लगा। सट्टा बाजार में कांग्रेस को पहली पसंद बताते हुए ज्यादा पैसा लगाना शुरू कर दिया।

दूसरी तरफ मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक 20 दिन पहले मध्यप्रदेश के सट्टा बाजार में भाजपा की हवा थी। जबकि हवा का रुख पलटते देर नहीं लगी और सट्टेबाजों ने स्थिति पलट दी। भोपाल का सट्टा बाजार 230 सीटों में से कांग्रेस को 116 से ज्यादा सीटें मिलने का दावा कर रहा है, जबकि भाजपा के पक्ष में 102 सीटें मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। यानी कांग्रेस बहुमत के आंकड़े तक पहुंच सकती है।

20 दिन में बदल गया हवा का रुख

सट्टा बाजार के ट्रेंड के मुताबिक मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा के रेट से यह संकेत मिले थे कि दोनों राज्यों में बीजेपी मुश्किल के बावजूद वापसी कर सकती है। बीजेपी पर 10 हजार रुपए लगाने वाले को पार्टी की जीत पर 11 हजार रुपए मिलने की बातें सामने आई थीं। जबकि यदि कांग्रेस पर कोई 4,400 रुपए लगाने वाले को जीत के बाद 10 हजार रुपए मिलने दिए जाने की खबरें थीं। अब स्थिति पलट गई है। अब कांग्रेस पार्टी पर ज्यादा भाव लग रहे हैं।

बुकी मानते हैं कि 20 दिन पहले उम्मीद थी कि भाजपा मध्यप्रदेश में फिर से सरकार बना रही है, जबकि कांग्रेस की उम्मीद कम है। छत्तीसगढ़ में भी भाजपा जीत हासिल करने का दावा किया गया था। कांग्रेस राजस्थान में आ सकती है। बुकी का कहना है कि टिकट बंटवारे के बाद सट्टे के रेट में अंतर आ गया था। लेकिन, कांग्रेस के प्रचार अभियान को देखते हुए सट्टे बाजार में भी कांग्रेस प्रत्याशियों पर ज्यादा पैसा लगने लगा है। यानी अब कांग्रेस पार्टी की हवा बन रही है।
यह भी कहते हैं सट्टेबाज

-कुछ सट्टेबाज यह भी कहते हैं कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस वापसी करे यह मुश्किल लगता है। क्योंकि भाजपा पर सट्टा लगाने वालों का प्राफिट मार्जिन कम है। और कांग्रेस का ज्यादा है।

-टिकट बंटवारे के बाद हुई उथल-पुथल के बाद रेट में अंतर आ गया है, लेकिन सट्टा बाजार के मुताबिक एमपी-छग में भाजपा और राजस्थान में कांग्रेस का ट्रेंड फिलहाल बदल सकता है।

मुश्किल है सटोरियों को पकड़ना
देश में किसी भी बात पर सट्टा लगाना गैर कानूनी है। सट्टा बाजार कभी दिखता नहीं है, इसलिए इसको पकड़ना बहुत मुश्किल होता है। क्योंकि यह दूर-दराज के स्थानों पर बैठे लोग लगाते हैं, यह मोबाइल फोन से या वेबसाइट के जरिए या आनलाइन मोबाइल एप्लीकेशन से भी लगाया जाता है।

-सट्टा लिखने वाले एक जगह से दूसरी जगह पर मूव करते रहते हैं। ऑनलाइन सट्टा चलती हुई कार, कैफे अथवा शहर के पब्लिक प्लेस से भी संचालित किया जा सकता है, जो किसी की नजर में नहीं आता है। हालांकि भोपाल में हर रोज सट्टेबाजों को पकड़ने की मुहिम चलती है, हर रोज एक-दो प्रकरण दर्ज भी होते हैं।

इंदौर के सट्टा बाजार में कांग्रेस को 116 सीटें मिलना बताया जा रहा है जबकि भाजपा को 100 सीटें ही मिल सकती हैं। सटोरियों ने भाजपा को 100 के भीतर ही सिमट सकती है। जबकि कांग्रेस को 105 से अधिक सीटें मिलना बताया है।

Wednesday, November 28, 2018

23 साल के लड़के ने 91 साल की महिला से हुई शादी, हनीमून के दौरान बिस्तर पर हुआ ये हादसा

23 साल के लड़के ने 91 साल की महिला से हुई शादी, हनीमून के दौरान बिस्तर पर हुआ ये हादसा

23 साल के लड़के ने 91 साल की महिला से हुई शादी, हनीमून के दौरान बिस्तर पर हुआ ये हादसा

लॉ 23 साल के छात्र ने पढ़ाई पूरी करने के लिये 91 साल की वृद्धा से शादी तो कर ली लेकिन उसके बाद जो कुछ हुआ वह जानकर आप दंग रह जाएंगे। जानिए ऐसा क्या हुआ कि लड़का जेल जाते-जाते बच गया।

एक ऐसी शादी हुई है जिसके बारे में जानकर हर कोई हैरान है। अब आपके दिमाग में आ सकता हैं की शादी तो सबकी होती है, इसमें हैरानी वाली क्या बात है? लेकिन जब हम आपको बताएंगे कि इस शादी में दुल्हे की उम्र 21 साल है और दुल्हन 91 साल की है, तो आप भी सोच में जरूर पड़ जाएंगे।

लेकिन इस शादी के बाद हनीमून के दौरान जो कुछ भी हुआ वह जानकर आपके होश उड़ जाएंगे क्योंकि ये शादी कुछ शर्तों पर हुई थी।

दरअसल, अर्जेंटीना से आई इस खबर के बारे में जानकर हर किसी के होश उड़े हुए हैं। अर्जेंटीना में एक 23 साल का लड़का लॉ की पढ़ाई कर रहा था। लड़के की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी लेकिन वह फिर भी अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए जी जान से लगा हुआ था। उसके घर में उसकी मां, भाई के साथ में एक 91 साल की वृद्ध महिला भी रहती थी।

हुआ यूं कि इस 91 साल की बूढ़ी महिला ने लड़के को कहा कि यदि वह उससे शादी कर लेगा तो महिला उसकी पढ़ाई के लिए सारा खर्च देगी। लड़का इस बात को झट से मान गया और 91 साल की बूढ़ी महिला के साथ शादी करने के लिए तैयार हो गया।

ऐसा करने के पीछे 91 साल की बूढ़ी महिला ने बताया कि उसको पेंशन मिलती है और जब उसकी मृत्यु हो जाएगी तो ये पेंशन इस लड़के को मिलनी शुरू हो जाएगी, क्योंकि अब वो उसका पति बन चुका है।.

लेकिन कहानी में उस वक्त अजीब मोड़ आ गया जब 91 साल की बूढ़ी महिला हनीमून मनाने के लिए अपने 23 साल के पति के साथ गयी और बिस्तर पर ही महिला का दम निकल गया। जब लड़के ने पेंशन के लिए आवेदन किया तो अधिकारी उस पर बरस पड़े और यह इल्जाम लगाया कि लड़के ने महिला की सम्पत्ति के लिए उससे विवाह किया था। घटना के बाद लड़का जेल जाते-जाते बच गया।
मध्य प्रदेश पुलिस विभाग में 10वी पास के लिए 15000 पदों पर सीधी भर्ती

मध्य प्रदेश पुलिस विभाग में 10वी पास के लिए 15000 पदों पर सीधी भर्ती

Police Photo

पुलिस विभाग द्वारा मध्यप्रदेश में अनुबंध के आधर पर आरक्षक (जी.डी.) आरक्षक (MT) चालक एवं आरक्षक ट्रेडमेन (अकुशल) के 15000 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए साक्षात्कार कार्यक्रम का आयोजन किया हैं। जिन उम्मीदवारो ने किसी मान्यता बोर्ड से 10वीं,12वीं पास किया हो, वे आवेदन कर सकते है। चयनित उम्मीदवारो को मापदंडो के अनुसार वेतन मिलेगा। यह पोस्ट उम्मीदवारों को अच्छा अनुभव प्राप्त करने का अवसर प्रदान करेगीं।


पोस्ट का नाम – आरक्षक (जी.डी.) आरक्षक (MT) चालक एवं आरक्षक ट्रेडमेन (अकुशल)
कुल पोस्ट – 15000
स्थान – मध्यप्रदेश

योग्यता
इस पोस्ट के लिए आवेदन करना हो तो अभ्यर्थी को मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं,12वीं पास होना ज़रूरी है।

आयु सीमा
इस पोस्ट के लिए आयु सीमा 18 से 35 वर्ष रखी गई हैं।
आवेदन फीस – General/OBC- 520 रुपये, SC/ST-320 रुपये।

अंतिम तिथि
आवेदन करने की तिथि – जनवरी 2019
आवेदन कैसे करे – इच्छुक उम्मीदवार अपने सभी दस्तावेजो के साथ जनवरी 2019 से पहले http://www.home.mp.gov.in/hi इस वेबसाइट से आवेदन कर सकते है।
पीएम मोदी ने दिया राम मंदिर पर एक बड़ा बयान, कांग्रेस में मची खलबली

पीएम मोदी ने दिया राम मंदिर पर एक बड़ा बयान, कांग्रेस में मची खलबली

पीएम मोदी ने दिया राम मंदिर पर एक बड़ा बयान

प्रधानमंत्री मोदी हाल ही में चुनावी रैली के कार्यक्रम को लेकर मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान के अलवर में पहुंचे। जहां पर उन्होंने विपक्ष में बैठी कांग्रेस पर कई करारे हमले किए।

गौरतलब है कि राजस्थान के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस की कड़ी टक्कर में हैं। यही वजह है कि प्रधानमंत्री मोदी कांग्रेस को लेकर कई करारे हमले कर चुके हैं। गौरतलब है कि इसी बीच राजस्थान में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने राम मंदिर को लेकर भी बड़ा बयान दिया।


दरअसल वर्तमान समय में पूरे देश भर में राम मंदिर को लेकर राजनीति गरमाई हुई है। इसी बीच पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस के कुछ लोग न्यायालय में जाकर यह स्पष्ट तौर पर बोल रहे हैं कि चुनाव 2019 से पहले राम मंदिर का निर्माण नहीं होना चाहिए। ऐसे में भगवान राम और उनके मंदिर को लेकर कांग्रेस की राजनीति और नीति स्पष्ट रूप से समझी जा सकती है।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास आगामी चुनाव में उतरने के लिए कोई भी मुद्दे नहीं बचे हैं। यही वजह है कि कांग्रेसी नेता कभी मोदी की मां को गाली देते हैं तो कभी नरेंद्र मोदी की जाति पूछ बैठते हैं। इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस के पास समाज में जातिवाद का जहर घोलने के अलावा और कोई काम नहीं है। तथा मुझे तो यह लगता है कि यह काम नामदार के इशारे पर हो रहा है।

हालांकि राम मंदिर के समर्थन में उतरी तमाम राजनीतिक पार्टियां पिछले लंबे समय से राम मंदिर को लेकर प्रधानमंत्री मोदी के मुंह से कुछ सुनना चाहती थी। ऐसे में राम मंदिर को प्रधानमंत्री मोदी का एक लंबे समय बाद चुप्पी तोड़ना आपको किस तरह के संकेत देता है?

Monday, November 19, 2018

हर रोज नहाने के लिए 1 करोड़ रूपए खर्चा करती है ये महिला

हर रोज नहाने के लिए 1 करोड़ रूपए खर्चा करती है ये महिला

हर रोज नहाने के लिए 1 करोड़ रूपए खर्चा करती है ये महिला

आज तक आपने कई अरबपति और अमीर लोगों के आलिशान शौकों के बारे में तो जरूर सुना ही होगा लेकिन हम आपको आज एक ऐसी अरबपति के बारे बता रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे. अगर कोई आपसे पूछें कि एक दिन में नहाने का खर्चा ज्यादा से ज्यादा कितना आ सकता है, तो शायद आप इस बात को मजाक में ले सकते हैं लेकिन हम आपको आज एक ऐसी महिला के बारे में बता रहे हैं जो हर दिन सिर्फ नहाने पर ही 1 करोड़ रुपए खर्च कर देती है.


जी हां... बिल्कुल सही पढ़ा आपने इस अरबपति महिला के एक दिन के नहाने का खर्च 1 करोड़ रुपए हैं. इस महिला की सेवा में 24 घंटे के लिए 22 नौकर लगे रहते हैं. ये महिला पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश अरबपति मोहम्मद जहूर की वाइफ कमालिया है जो कि अपने अनोखे शौक की वजह से दुनिया भर में जानी जाती हैं. कमालिया पानी से नहीं बल्कि शैंपेन से नहाने का शौक रखती है.

जी हाँ... और इसके लिए वे कई महंगी शैंपेन की बोतलें खाली कर देती हैं. कमालिया खुद को खूबसूरत बनाने के लिए सिर्फ नहाने पर ही 1 करोड़ रुपए खर्च कर देती हैं. सूत्रों की माने तो वो हर दिन 18-20 बोतलों से नहाती हैं.
पृथ्वी पर आने वाला प्रथम मनुष्य कौन

पृथ्वी पर आने वाला प्रथम मनुष्य कौन

सवाल : गुप्ता में पदाधिकारियों के सबसे श्रेष्ठ वर्ग को क्या कहा जाता था ?

जवाब : कुमारामात्य

सवाल : शिवाजी से लड़ने के लिए जयसिंह को किस मुगल शासक ने भेजा था ?

जवाब : औरंगजेब ने

सवाल : मराठी राज्य का दूसरा संस्थापक किसको कहा जाता है ?

जवाब : बालाजी विश्वनाथ को

सवाल : पृथ्वी पर आने वाला प्रथम मनुष्य कौन था ?
पृथ्वी पर आने वाला प्रथम मनुष्य कौन

जवाब : इस बारे में अभी तक विज्ञान ने कोई पुष्टिकरण नहीं किया है लेकिन इतिहास के मुताबिक पृथ्वी पर सबसे पहले दो लोगों ने कदम रखा था जिसमें एक पुरुष और एक महिला थी। पुरुष का नाम 'Adam' था और महिला का नाम 'Hawa' or Eve था

सवाल : विकिरण पाइरोमीटर से कितना तापक्रम मापा जा सकता है ?

जवाब : 800 डिग्री सेल्सियस से ऊपर

सवाल : भारत में क्षेत्रीय शासन स्थापित करने वाला पहला यूरोपीय राष्ट्र कौन था ?

जवाब : पुर्तगाल

सवाल : दक्षिण भारत से उत्तर भारत में भक्ति आंदोलन किसने चलाया था ?

जवाब : रामानन्द ने
छत्तीसगढ़ में भाषण के दौरान नरेंद्र मोदी से हो गई बहुत बड़ी गलती, जानकर आपको भी नहीं होगा यकीन!

छत्तीसगढ़ में भाषण के दौरान नरेंद्र मोदी से हो गई बहुत बड़ी गलती, जानकर आपको भी नहीं होगा यकीन!

Pm modi

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ में बीजेपी का प्रचार करने के लिए पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस पर जमकर बरसे। लेकिन गांधी परिवार को घेरने के चक्कर में उनसे बहुत बड़ी गलती हो गई। मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सीताराम केसरी का जिक्र करते हुए उन्हें दलित बता दिया।

पूरा वाकया छत्तीसगढ़ के महासमुंद की रैली का है जहां पीएम मोदी हजारों लोगों को संबोधित करने पहुंचे थे। भाषण के दौरान पीएम ने कहा कि दलित सीताराम केसरी को कांग्रेस अध्यक्ष पद का अपना कार्यकाल पूरा नहीं करने नहीं दिया, उन्हें सोनिया गांधी की ताजपोशी के लिए रास्ते से हटाया गया था। उन्होंने कहा कि एक परिवार की चार पीढ़ियों ने देश पर शासन किया और सत्ता में होने का फायदा उठाया, लेकिन देश को उनके शासन से फायदा नहीं हुआ।

पीएम मोदी ने भाषण में कहा, ‘मेरा सवाल है कि पांच साल के लिए इस परिवार से बाहर के एक व्यक्ति को अध्यक्ष बनाकर देख लीजिए। देश को पता है कि सीताराम केसरी दलित, पीड़ित और शोषित समाज से आए हुए व्यक्ति को पार्टी अध्यक्ष से कैसे हटाया गया था? कैसे बाथरूम में बंद कर दिया गया था? कैसे दरवाज से निकालकर फुटपाथ पर फेंक दिया गया था? इसके बाद मैडम सोनिया जी को बैठा दिया गया था।’

पीएम मोदी ने सीताराम केसरी को दलित बताकर बड़ी चूक कर दी क्योंकि केसरी दलित नहीं बल्कि पिछड़े वैश्य समाज से आते थे। उनका जन्म बिहार के दानापुर में हुआ था।
2019 के भारत के 5 नेता हो सकते है प्रधानमंत्री

2019 के भारत के 5 नेता हो सकते है प्रधानमंत्री

Pm modi

इस वक्त देश के पांच राज्यों में चुनाव चल रहे है और सभी इन चुनाव को लोकसभा के चुनाव से पहले का लिटमस टेस्ट के रूप में देख रहे है. अब जब लोकसभा के चुनाव में 6 महीने से भी कम का समय बचा है ऐसे में एक सवाल कई मोदी समर्थक करते है की अगर पीएम नरेन्द्र मोदी नहीं तो कौन?
आज हम आपको कुछ ऐसे नेताओं के नाम बताने वाले है जो पीएम मोदी के बाद या पीएम मोदी के अलावा देश के प्रधानमन्त्री बन सकते है या बनने की क्षमता रखते है.

नीतीश कुमार: मोदी के अलावा पीएम बनने की क्षमता रखने वाले नेता है नीतीश कुमार. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लम्बे समय तक मोदी के अलोचाक रहे थे लेकिन उन्होंने बिहार में अचानक बीजेपी का दामन थाम लिया और लालू के साथ गठबंधन थोड कर प्रदेश में बीजेपी के साथ गठबंधन कर लिया. अब ये गठबंधन लोकसभा के चुनाव में भी एक साथ जा रहा है.

राहुल गांधी.: कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस के पीएम प्रत्याशी हो सकते है, हालांकि अगले लोकसभा के चुनाव में कांग्रेस का सरकार बना पाना मुश्किल नजर आ रहा है लेकिन अगर कभी कांग्रेस की सरकार बनती है तो राहुल गांधी इस पद की दावेदारी कर सकते है

अरविन्द केजरीवाल: आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष और दिल्ली के मुख्यमंत्री भी इस पद पर जाने की क्षमता रखते है.
अखिलेश यादव: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री यादव भी इस पद के लिए दावेदारी रखते है.

ममता बनर्जी: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी इस पद की दावेदार है, अगर अगले लोकसभा के चुनाव में महागठबंधन को मौका मिलता है तो ममता बनर्जी का नाम पीएम पद के लिए सोचा जा सकता है.

Tuesday, November 13, 2018

Redmi  Note 8C Review , कीमत जान उड़ जाएंगे होश

Redmi Note 8C Review , कीमत जान उड़ जाएंगे होश

Redmi ने उतारा Note 8C, कीमत जान उड़ जाएंगे होश...

शानदार स्मार्टफोन कंपनी शाम ने हाल ही में Redmi Note 8C को गुरूवार को चीन में लॉन्च कर दिया है. यह फ़ोन काफी शानदार बताया जा रहा है. बता दें कि इस फ़ोन के कई खास फीचर्स आपको देखने को मिलेंगे. Redmi Note 8C की कीमत 999 चीनी युआन, भारतीय मुद्रा में लगभग 10,000 रुपए है.


पिछले कई हफ्तों से Redmi Note 8C की लॉन्चिंग डेट को लेकर कई खबरें आ रही थी. हालाँकि अब शाओमी का दावा है कि इस सेगमेंट के स्मार्टफोन में यह बेस्ट सेल्फी कैमरा स्मार्टफोन साबित होगा. क्योंकि इसमें 12 मेगापिक्सेल का फ्रंट सेल्फी कैमरा दिया गया है.साथ ही इसके काफी फीचर्स आपको काफी आकर्षित करने वाले हैं.

बता दें कि इस फ़ोनमें 5.6 इंच का फुल-एचडी+ डिस्प्ले है, जहां इसका रिजोल्यूशन 1080×2160 पिक्सल का बताया जा रहा है. बता दें कि यह स्मार्टफोन स्नैपड्रैगन 450 प्रोसेसर के साथ आपको मिलेगा. इसमें ड्यूल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है. इसका पहला सेंसर एफ/2.2 अपर्चर वाला 16 मेगापिक्सल का अल्ट्रा वाइड एंगल सेंसर है. वहीं, दूसरा 5 मेगापिक्सल का वाइड एंगल सेंसर है जो एफ/2.1 अपर्चर के साथ आएगा.फ़ोन को पॉवर देने के लिए 4000 एमएएच की दमदार बैटरी का उपयोग किया है. इसमें 4 जीबी रैम और स्टोरेज 64 जीबी है.इस हालिया लांच फ़ोन में एक अलग माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट के अलावा, डुअल सिम स्लॉट भी मौजूद है. वहीं इसके अलावा इस स्मार्टफोन में एंड्रॉइड के 8.1 ओरियो ऑपरेटिंग सिस्टम का सपोर्ट भी इसमें आपको दिया गया है.

बाल दिवस 2018 पर जानें जवाहर लाल नेहरू के बारे में जाने यह बातें

बाल दिवस 2018 पर जानें जवाहर लाल नेहरू के बारे में जाने यह बातें

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिवस 14 नवंबर को पूरे देश में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। जवाहर लाल नेहरू को बच्चों के प्रति काफी प्रेम व लगाव भी था और उन्होंने जिंदगी में उनके लिए कई कल्याणकारी कार्य भी किए। इसी को ध्यान में रखकर उनके जन्मदिवस को बाल दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। इस वजह से लोग लोग उन्हें प्यार से चाचा नेहरू या चाचा जी कहकर भी बुलाते थे।

बाल दिवस के मौके पर जानें जवाहर लाल नेहरू के बारे में 10 बातें...

1. जवाहर लाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद में हुआ था। बच्चों के प्रति उनके प्यार और लगाव की वजह से हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
2. पंडित जवाहर लाल नेहरू कश्मीर के एक प्रवासी पंडित परिवार से थे। पेशे से वकील पंडित मोतीलाल नेहरू और उनकी पत्नी स्वरूप रानी की चार संतानों में जवाहर लाल नेहरू सबसे बड़े थे।
3. 16 साल की उम्र तक जवाहर लाल नेहरू की अधिकांश शिक्षा उनके घर पर ही हुई। इस दौरान उन्हें अंग्रेजी, हिंदी और संस्कृत भाषा की शिक्षा मिली, लेकिन अंग्रेजी की पढ़ाई पर विशेष जोर रहा। इसके बाद 1905 में नेहरू जी ब्रिटेन चले गए और वहां से आगे की पढ़ाई की। उन्होंने यहां कैंब्रिज में नेचुरल साइंस की डिग्री हासिल करने के लिए तीन साल गुजारे। इसके बाद अगले दो साल में नेहरू जी ने बैरिस्टरी की पढ़ाई की।
4. जवाहर लाल नेहरू की शादी 1916 में कमला नेहरू से हुई। शादी के एक साल बाद ही इंदिरा प्रियदर्शनी का जन्म हुआ जो आगे चलकर देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री बनीं।
5. जवाहर लाल नेहरू की इच्छा थी कि वह बतौर वकील प्रक्टिस करें लेकिन यह काम कुछ दिन तक ही कर सके। महात्मा गांधी जिस तरह अंग्रेजों से देश को मुक्त कराने के लिए अभियान चला रहे थे उसे नेहरू काफी प्रभावित हुए और महात्मा गांधी के साथ हो लिए।
6. आजादी के आंदोलन में पंडित नेहरू को 1929 में पहली बार जेल हुई। इसके बाद कई बार उनकी गिरफ्तारी हुई। इस दौरान नेहरू ने अपने मां-बाप और बीमार पत्‍नी को खो दिया। इसके बाद बाद उन्होंने देश की आजादी के लिए अपना पूरा समय लगा दिया।
7. कहते हैं कि जवाहर लाल नेहरू का दिमाग बहुत तेज था, वह जल्दी ही देश और दुनिया के मामलों के बारे में समझने लगे थे। इसके बाद उन्होंने देश के लोगों को जो विचार दिए उससे लोग काफी प्रभावित हुए और देखते ही देखते हजारों लोग उनसे जुड़ते चले थे।
8. पंडित जवाहर लाल नेहरू जनता के प्रधानमंत्री थे, वह एक प्रबुद्ध और विद्वान भी थे। वह अपने समय के सबसे लंबे नेताओं में से एक थे।
9. यह जवाहर लाल नेहरू ही थे जिन्होंने भिलाई, राउरकेला और बोकारो जैसे देश के सबसे बड़ी स्टील प्लांट स्थापित किए। इतना ही नहीं आईआईएससी और आईआईटी जैसे कई बड़े शैक्षिक संस्थान भी स्थापित किए।
10. पंडित जवाहर लाल नेहरू एक अच्छे लेखक भी थे। उन्होंने अंग्रेजी में कई पुस्तकें भी लिखी हैं जिनमें डिस्कवरी ऑफ इंडिया और ग्लिम्प्स ऑफ वर्ल्ड हिस्ट्री प्रमुख हैं।
राफेल पर डसॉल्ट के सीईओ बोले- हमने खुद किया अनिल अंबानी की कंपनी का चयन

राफेल पर डसॉल्ट के सीईओ बोले- हमने खुद किया अनिल अंबानी की कंपनी का चयन

राफेल डील

राफेल डील को लेकर मचे सियासी बवाल के बीच इस फाइटर जेट को बनाने वाली कंपनी दसॉ एविएशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एरिक ट्रैपियर ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों को खारिज किया है। ट्रैपियर ने एक इंटरव्यू में इस डील को लेकर राहुल के सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया। न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में ट्रैपियर ने कहा, 'मैं झूठ नहीं बोलता। मैं पहले जो भी कहा और अब कह रहा हूं वह सच और सही है।' उन्होंने कहा कि दसॉ-रिलायंस जॉइंट वेंचर (जेवी) के ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट को लेकर पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद का बयान सही नहीं था।

डसॉल्ट के सीईओ एरिक ट्रैपियर का कहना है कि हमने खुद अनिल अंबानी का चयन किया था। रिलायंस के अलावा हमारे सामने 30 लोगों ने प्रस्ताव दिया था। इंडियन एयरफोर्स डील को इसलिए आगे बढ़ा रही थी क्योंकि उसे यकीन था कि राफेल फाइटर जेट उनकी सभी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हैं | एरिक ट्रैपियर ने कहा कि वो जानते हैं कि इस मुद्दे पर कुछ विवाद हैं। लेकिन सच ये भी है चुनावों के मौके पर घरेलू राजनीति की वजह से इस तरह के मामले सामने आते हैं। उनके लिए सबसे जरूरी बात है कि सच क्या है और सच यही है कि यह क्लीन डील है और भारतीय वायुसेना भी इस डील से खुश है।कांग्रेस पार्टी के साथ हमारे संबंध बहुत पुराने हैं। 1953 में भारत के पहले पीएम नेहरू के कार्यकाल में हमारी पहली डील साइन हुई। उसके बाद ये सिलसिला दूसरे प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल में जारी रहा। हम किसी पार्टी के लिए काम नहीं कर रहे हैं। हम सिर्फ भारतीय वायुसेना और भारत की सरकार को सामरिक उत्पाद मुहैया करा रहे हैं और ये सबसे महत्वपूर्ण है।

राफेल जेट की कीमतों को समझाते हुए एरिक ट्रैपियर कहते हैं कि 36 राफेल विमानों के सौदे की कीमत 18 फ्लायावे के बराबर है। आप जानते हैं कि 36, 18 का दूना होता है। इस लिहाज से 36 विमानों की कीमत वहीं होनी चाहिए थी। लेकिन सरकार-सरकार के बीच समझौते होने की वजह से इसके दाम दूना होना चाहिए था। ये बात जानकार आपको हैरानी होगी कि डसॉल्ट को प्राइस बढ़ाने की जगह 9 फीसद कीमत घटानी पड़ी।जहां तक रिलायंस में पैसे डालने की बात है तो ये बात गलत है सौदे का पैसा डसॉल्ट- रिलायंस ज्वाइंट वेंचर में जा रहा है। डसॉल्ट के इंजीनियर और कर्मचारी इसके औद्योगिक उत्पादन में अग्रणी भूमिका में हैं। डसॉल्ट की जिम्मेदारी सिर्फ बेहतर उत्पाद मुहैया कराने की है और उस दिशा में हम आगे बढ़ चुके हैं।
राजस्थान विधानसभा चुनाव : कांग्रेस ने जारी की 75 नामों  सूची, ये उम्मीदवार को मिलेगी टिकट

राजस्थान विधानसभा चुनाव : कांग्रेस ने जारी की 75 नामों सूची, ये उम्मीदवार को मिलेगी टिकट

कांग्रेस

राजस्थान : विधानसभा चुनावों को लेकर चुनावी राज्यों में सरगर्मियां काफी बढ़ गई हैं। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजस्थान में कांग्रेस ने 75 नामों पर मुहर लगी हैं। इस लिस्ट के जरिए नेताओं को एक इशारा मिल चुका है कि जिताऊ को ही कांग्रेस अपना चेहरा बनाएगी। साथ ही सामने आई लिस्ट में राहुल गांधी की बात भी बिल्कुल सही साबित हो रही है। जिसमें उन्होंने कहा था कि एक भी पैराशूट उम्मीदवार नहीं आएगा।

कांग्रेस की 75 सीटों पर नाम हुए फाइनल – विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस की पहली लिस्ट अब 20 से 25 अक्टूबर तक घोषित कर दी जाएगी। कांग्रेस में लगातार चल रही बैठकों और दिल्ली में चल रहे मंथन के बाद 75 सीटें ऐसी है, जिनपर अंतिम मुहर लग गयी है।

हालांकि पहली लिस्ट में 50 नामों के आने की ही संभावना है, लेकिन तमाम 75 नेताओं को दिल्ली से इशारा मिल गया है, और ये नेता अपने क्षेत्र में प्रचार में जुट गए है। कांग्रेस अपनी पहली सूची में अधिकतर दिग्गजों के नाम जारी करेगी, ताकि शुरूआत में कोई विरोध ना हो।इसके अलावा वर्तमान और पूर्व विधायक मंत्रियों के नामों को भी सूची में शामिल किया गया है।

सूची में महिला और मुस्लिम समीकरणों का भी ख्याल रखा गया है। सूची से एक और महत्वपूर्ण बात निकल कर सामने आ रही है इस बार टिकट में कांग्रेस किसी विशेष फॉर्मूले पर काम करने की बजाय केवल जिताऊ उम्मीदवार पर ही दांव खेलने की तैयारी कर रही है। इसके साथ ही कांग्रेस इस बात पर खास ध्यान रख रही है कि कोई पैराशूटर टिकट नहीं ले जाए।

देखिए कांग्रेस की 75 सीटों पर नाम हुए फाइनल –

1.अनूपगढ़- कूलदीप इंदोरा
2.हनुमानगढ़- विनोद लीलावाली
3.नोहर- सूचित्रा आर्य
4.नोखा- रामेश्वर डूडी
5.कोलायत- भंवर सिंह भाटी
6.सूजानगढ़- (SC) भंवरलाल मेघवाल
7.भंवरलाल शर्मा- सरदार शहर
8.सूरजगढ- श्रवण कूमार
9.झुंझनू – विजेन्द्र ओला
10.मण्डावा – रीटा चौधरी 11. सादुलपुर – कृष्णा पुनिया
12.खेतड़ी- डॉच जितेन्द्र
13.लक्ष्मणगढ़ – गोविंद डोटासरा
14.धोद- परसराम मोरदिया या उनका बेटा राकेश मोरदिया
15.दातारामगढ़ – नारायण सिंह का बेटा वीरेंद्र या पोता दिव्यांश
16.श्रीमाधोपुर- दीपेन्द्र सिंह शेखावत
17.कोटपुतली – राजेन्द्र यादव
18.विराटनगर- मान सिंह गुर्जर, इंद्रराज,रामचंद्र सराधना
19.शाहपुरा- कमला बेनीवाल के बेटे आलोक या बहू
20.सिविल लाइंस – प्रताप सिंह खाचरियावास( अगर खुद झोटवाडा ना चाहे तो)
21. बानसूर- शंकुतला रावत
22.कामां- जाहिदा
23.अलवर रूरल- टीकाराम जूली
24.रामगढ़ – जुबेर खान या उनकी पत्नी साफिया
25.डीग कुम्हेर- विश्वेन्द्र सिंह
26.बाड़ी- गिर्राज मलिंगा
27.सपोटरा- रमेश मीणा
28.सीकराय- ममता भूपेश
29.धौलपुर- अशोक शर्मा
30.राजाखेड़ा- प्रधुम्न सिंह या उनके बेटे रोहित बोहर
31.लालसोठ- परसादी मीणा
32.करौली- दर्शन सिंह गुर्जर
33.निवाई- प्रशांत बैरवा
34.अजमेर साउथ- हेमंत भाटी
35.केकड़ी- रधु शर्मा
36.डीडवाना- चेतन डूडी
37.नावा – महेन्द्र चौधरी
38.डेगाना- रिछपाल मिर्धा
39.खण्डार- अशोक बैरवा
40.फलोदी – विजय लक्ष्मी विश्नोई
41.लोहावट- करण सिह उचियाडा
42.मकराणा- जाकिर गैसावत
43.ओसियां- लीला मदेरणा या दिव्या मदेरणा
44.सरदारपुरा- अशोक गहलोत
45.जैसलमेर- सुनिता भाटी
46.पोकरण- सालेह महोम्मद
47.बाडमेर- मेवाराम जैन
48.बायतु- हरीश चौधरी
49.पचपदरा- मदन प्रजापत
50.भीनमाल- समरजीत सिंह
51.साचौर- सूखराम विश्नोई
52.रानीवाडा- रतन देवासी
53.सिरोही- संयम लोढा
54.गोगुंदा- मांगीलाल गरासिया
55.रेवदर- नीरज डांगी
56.वल्लभनगर- गजेंद्र सिंह शक्तावत
57. गढ़ी- कांता भील
58. निम्बाहेड़ा – उदयलाल आंजना
59.बड़ीसादडी- प्रकाश चौधरी
60.बागीदौरा- महेन्द्रजीत सिंह मालवीय
61.भीम- लक्ष्मण सिंह रावत या उनके बेटे
62.राजसमंद- हरी सिंह
63.जहाजपुर- धीरज गुर्जर
64.केशोरायपाटन- सीएल प्रेमी
65.टोंक -सउद साउदी66.सांगोद- भरत सिंह
67.कोटा नोर्थ- शांति धारीवाल
68.अंता- प्रमोद जैन भाया
69.हिंडोली- अशोक चांदना
70.बूंदी- ममता शर्मा या उनका बेटा समरथ
71.उदयपुर- गिरीजा व्यास या उनके भाई
72.सोजत- शोभा सोलंकी
73.मावली- पुष्कर लाल डांगी
74.सवाईमाधोपुर- दानिश अबरार
75.बसेड़ी- खिलाड़ी लाल बैरवा

Saturday, November 10, 2018

किन लोगों को नहीं खाने चाहिए काजू और किसके लिए है फायदेमंद

किन लोगों को नहीं खाने चाहिए काजू और किसके लिए है फायदेमंद

किन लोगों को नहीं खाने चाहिए काजू और किसके लिए है फायदेमंद

काजू, ड्राई फूट्स में सबसे टेस्टी माना जाता है लेकिन यह सेहत के लिए भी उतना ही फायदेमंद है। प्रोटीन, खनिज, आयरन, फाइबर, फोलेट, मेग्नीशियम, फॉस्फोरस, सेलेनियम, एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल और विटामिन से भरपूर काजू सेहत संबंधी कई तरह की परेशानियां दूर करने में मददगार है। इसका इस्तेमाल सब्जी, मिठाई, सूप आदि में किया जा सकता है।

1. हाई कैलोरी से भरपूर काजू

काजू के एक आउंस में 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 4.5 ग्राम प्रोटीन और 13‌ ग्राम गुड फैट होता हैं। इसके अलावा इसके एंटीबैक्टीरियल गुण इंफैक्शन से बचाव रखने में मददगार है। हाई कैलोरी की वजह से इसे खाने के बाद जल्दी भूख नहीं लगती। सर्दियों में 5 से 7 काजू खाने बेहतर माने जाते हैं।
2. फ्राई की बजाए खाएं सिंपल काजू
नमकीन या फ्राई काजू खाने की बजाए साधारण काजू का सेवन करें। इससे सूप, सब्जी की ग्रेवी, मेपल सिरप में डालकर खाया जा सकता है। आप कैशयू बटर का इस्तेमाल भी कर सकती हैं जिसे फल, सब्जियों के सलाद के साथ के साथ भी खा सकते हैं।

3. काजू खाने के फायदे

- पाचन शक्ति बढ़ाए
काजू पाचन शक्ति बढ़ाने में मददगार है। इसे खाने से आंत में भरी गैस दूर हो जाती है और भूख लगने लगती है। पाचन क्रिया दुरुसत रखना चाहते हैं तो रोजाना काजू का सेवन करें।

- कैंसर से बचाव

काजू में फ्लैवनॉल्स और कॉपर कैंसर सैल को बढ़ने से रोकता है। इसका रोजाना सेवन करने से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी होने का खतरा कम हो जाता है। पेट के कैंसर में यह बहुत फायदेमंद है।

- दिल के लिए अच्छा

काजू में फैट बहुत कम है जो दिल के लिए बहुत अच्छा है। इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की परेशानी नहीं होती है और स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।

- लो ब्लड प्रेशर में बढ़िया

जिन लोगों का ब्लड प्रैशर हर समय लो हाई रहता है, उन्हें ब्रेन हेमरेज होने का खतरा बहुत ज्यादा रहता है। रक्तचाप को संतुलित रखना चाहते हैं तो रोजाना 4-5 काजू का सेवन करें।

- नसें और हड्डियां मजबूत

मेग्नीशियम से भरपूर काजू कैल्शियम को नर्व सेल्स तक पहुंचाने का काम करता है। इससे नसों पर बहुत कम दवाब पड़ता है। जब शरीर में मेंग्नीशियम की कमी होती है तो कैल्शियम नसों तक पहुंचने लगता है। जिस कारण नसों में सिकुड़न होने के साथ ब्लड प्रेशर और माइग्रेन की समस्या होने लगती है।

- खून की कमी पूरी

काजू में आयरन की मात्रा ज्यादा होती है, जो शरीर में एनीमिया यानि खून की कमी को पूरा करता है।

- दांतों बनाएं मजबूत

इसके अलावा काजू में फॉस्फोरस की मात्रा भी पर्याप्त होती है, जो दांतों के मजबूत रखता है। इसलिए बड़े और बूढ़ों को रोज काजू का सेवन करना चाहिए।

- डायबिटीज में फायदेमंद

रोजाना थोड़े से काजू का सेवन करने से डायबिटीज का खतरा भी बहुत कम हो जाता है। यह टाइप 2 डायबिटीज के स्तर को कंट्रोल करने में मददगार है।

4. प्रेग्नेंसी में काजू खाने के फायदे

प्रेग्नेंसी में 1 ओंस से ज्यादा काजू का सेवन न करें। इससे नुकसान हो सकता है लेकिन सीमित मात्रा में काजू खाने से मां और बच्चे दोनों को बहुत फायदा मिलता है। इससे बच्चे का शारीरिक विकास बहुत अच्छे तरीके से होता है, इसके अलावा हड्डियां मजबूत, मस्तिष्क का अच्छा विकास होने के साथ-साथ मां के दांतों के लिए भी बेस्ट है। इससे किसी तरह की कैविटी नहीं होती।

5. किन लोगों को नहीं खाना चाहिए काजू

- माइग्रेन

सिर दर्द या माइग्रेन के रोगी को काजू का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। इसमें मौजूद अमीनो एसिड सिर दर्द पैदा कर सकता है।

- गॉलब्लैडर स्‍टोन

जिन लोगों के पित्ते में पथरी है, उन्हें काजू का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे मौजूद ऑक्सलेटेस तत्‍व पथरी की परेशानी बढ़ा सकते हैं।

- मोटापा

जो लोग मोटापे के शिकार हैं,उन्हें काजू खाने से परहेज करना चाहिए। 30 ग्राम काजू में 163 कैलारी और 13.1 फैट होता है। इसका ज्यादा सेवन वजन बढ़ाने का काम करता है।

- पेट की गड़बड़ी

पेट संबंधित कोई परेशानी है तो उन्हें काजू का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे सेहत ज्यादा खराब हो सकती है।

- हाई ब्लड प्रेशर

सोडियम से भरपूर काजू का सेवन हाई ब्लड प्रेशर में और भी ज्यादा गंभीर हो सकता है। ऐसे लोगों को काजू नहीं खाना चाहिए।
Chhath Puja Nahay Khay 2018: रविवार से शुरु हो रहा है छठ पूजा, नहाय खाय का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Chhath Puja Nahay Khay 2018: रविवार से शुरु हो रहा है छठ पूजा, नहाय खाय का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Chhath Puja Nahay Khay 2018: छठ पर्व रविवार यानि 11 नवंबर से शुरू हो रहा है. सभी घरों छठ पर्व की सभी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं. छठ पर्व का त्योहार 4 दिनों का होता है. चार दिनों तक चलने वाली छठ पूजा में भगवान सूर्य की उपासना का बहुत अधिक महत्व है. जानिए छठ पूजा पर नहाय खाय का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि.
Chhath Puja Nahay Khay 2018: रविवार से शुरु हो रहा है छठ पूजा, नहाय खाय का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि


नई दिल्ली. छठ पर्व कल यानि रविवार 11 नवंबर से छठ पर्व शुरू होने जा रहा है. इस पर्व की तैयारियों में लोग पिछले कई दिनों से लगे हुए थे आखिरकार वह दिन आ ही गया. छठ पर्व की बिहार और आस-पास के राज्यों में मनाया जाता है. चार दिन तक चलने वाली छठ पूजा में भगवान सूर्य की उपासना का काफी महत्व है. छठ पूजा के पहले दिन 11 नंबवर को नहाय खाय मनाया जाता है. इसके बाद 12 नवंबर को खरना मनाया जाता है. वहीं 13 नवंबर को सांझ का अर्ध्य है और व्रत का आखिरी दिन यानी 14 नवंबर को भोर का अर्ध्य होता है.


रीति रिवाज के अनुसार छठ देवी सूर्य की बहन हैं लेकिन छठ व्रत कथा के मुताबिक छठ देवी ईश्वर की पुत्री देवसेना बताई गई हैं. ऐसा माना जाता है कि देवसेना प्रकृति की मूल प्रवृति के छठवें अंश से उत्पन्न हुई हैं. वहीं ऐसा माना जाता है कि देवी कहती हैं कि यदि तुम योग्य संतान चाहते हो तो मेरी विधिवत पूजा करो. नहाय खाय का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 15 मिनट से 10 बजकर 49 मिनट तक बताया जा रहा है.

पहला दिन नहाय खाय, 11 नवंबर रविवार
नहाय खाय का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 15 मिनट से 10 बजकर 49 मिनट तक बताया जा रहा है. इसी दिन व्रती स्नान करके नए कपड़े पहनती हैं.
दूसरा दिन खरना, दूसरा दिन 12 नवंबर सोमवार
कार्तिक शुक्ल पंचमी को खरना बोलते हैं. रीति रिवाज के मुताबिक इस पूरे दिन व्रत करने के बाद शाम को व्रती भोजन करते हैं.
मोबाइल में करो लो एक छोटी से सेटिंग बैटरी चलेगी चार दिन

मोबाइल में करो लो एक छोटी से सेटिंग बैटरी चलेगी चार दिन

आप सभी ये अच्छी तरह से जानते होंगे कि अपने स्मार्टफोन कि बैटरी बैकअप कि समस्या से तो हर कोई परेशान है. लेकिन सही जानकारी न होने के कारण हम अपने इस समस्या का समाधान नहीं कर पाते हैं. जबकि हमारे फोन में इंस्टाल ऐप्स भी बैटरी जल्दी ख़त्म होने के बड़े कारण हो सकते हैं.
Battery life mobile phone

अगर आपको भी बैटरी कम चलने कि समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो आज का हमारा ये पोस्ट आप अंत तक जरूर पढ़े. आज के इस पोस्ट में हम आपको एक ऐसे ऐप के बारे में बताएँगे जो आपके फोन कि बैटरी को बहुत जल्दी ड्रेन कर देता है. अगर आप इस ऐप को अपने फ़ोन से डिलीट कर देते हैं तो आपके फोन कि बैटरी दुगुनी चलेगी. तो आइये जानते हैं इस ऐप के बारे में.

मोबाइल इकोनॉमिस्ट के अनुसार हमारे फोन में मौजूद फेसबुक ऐप आपके फोन कि बैटरी को सबसे ज्यादा ख़त्म करता है. उनके दावे के अनुसार फेसबुक आपके फोन कि बैटरी को 47% अकेले ही ख़त्म करता है. ज्यादातर लोगों के स्मार्टफोन में आपको फेसबुक ऐप को देखने को मिल जायेगा. अगर आप इस ऐप को डिलीट कर देंगे तो आपके फोन कि बैटरी पहले से बेहतर और दोगुनी हो जाएगी.

हम आपको बता दें किiPhonee 7 पर प्रयोग करने के बाद इस रिपोर्ट को तैयार किया गया है. आपको ये जानकार हैरानी होगी कि एप्पल का ये फोन सबसे लम्बी बैटरी लाइफ के लिए जाना जाता है.

इस रिपोर्ट के अनुसार एक स्क्रीनशोर्ट भी शेयर किया गया है जिसमे ये साफ़ दिख रहा है की फेसबुक ने 47% बैटरी पॉवर का यूज़ किया है.अगर आप अपने बैटरी लाइफ को दुगुना करना चाहते हैं तो जल्दी से फेसबुक ऐप को डिलीट करें और आप फेसबुक के जगह फेसबुक लाइट का इस्तेमाल करे. ये आपके लिए ज्यादा बेस्ट रहेगा.

Friday, November 9, 2018

छुट्टियों को बच्चों के लिए यादगार बनाने के 5 सुपर बेस्ट तरीके

छुट्टियों को बच्चों के लिए यादगार बनाने के 5 सुपर बेस्ट तरीके

बच्चों के लिए सबसे अच्छा समय होता है छुट्टियां. इन छुट्टियों में वो हर दिन कुछ नया सीख पाते हैं और अपने परिवार के और कोल्ज़ आ पाते हैं. ठीक इसी तरह माता-पिता के लिए भी ये समय बच्चों को अच्छी तरह समझने का होता है. इसीलिए जरूरी है कि गर्मियों की इन छुट्टियों को बरबाद करने के बजाय कुछ ऐसा किया जाए जिससे ये समय बच्चों के लिए यादगार बन पाए. यहां जानें 5 सुपर बेस्ट तरीकों के बारे में जिससे ये वेकेशन हमेशा के लिए मेमोरेबल बन जाएंगे.
छुट्टियों को बच्चों के लिए यादगार बनाने के 5 सुपर बेस्ट तरीके

1. पुराने समय को जिंदा करें
पेरेंट्स अपनी बचपन की यादों को बच्चों से शेयर करें. आपकी इन बातों को जान बच्चे भी इससे खुद को जोड़कर देख पाएंगे. गर्मी की छुट्टियों का मतलब सिर्फ घंटों टीवी देखना, मोबाइल पर बिज़ी रहना और बे सिरपैर की बातों में समय खपाना नहीं होता. इस समय में बच्चों से जितना बात कर पाएं उतना अच्छा. अपना बचपन, स्कूल, मस्ती, दोस्त, एग्ज़ाम का समय का एक्सपीरिएंस और खेल जैसी तमाम चीज़ों के बारे बात करें.

2. खेलों से लगाव

हम सभी 24 घंटे सातों दिन ऐसी में रहने के आदि हो गए हैं लेकिन जरा याद कीजिए हम सभी ऐसे स्कूलों में पढ़कर बड़े हुए हैं जहां एयरकंडीशनर जैसी कोई सुविधा नहीं हुआ करती थी, इसके बावजूद हमारी इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) आज के बच्चों की तुलना में कहीं ज्यादा मजबूत हुआ करती थी. कोई भी व्यक्ति भरी गर्म दुपहरी में अपने बच्चे को घर से बाहर पार्क में खेलने नहीं भेजना चाहेगा, लेकिन अगर आपका बच्चा केवल इनडोर एक्टिविटीज में ही व्यस्त रहेगा तो इस बात की आशंका रहेगी की वह समाज में घुल मिल न पाए.

3. प्रकृति की गोद

बच्चों को पर्यावरण के प्रति जागरूक और जिम्मेदार बनाया जाए और उन्हें प्रकृति के साथ रिश्ता बनाने में मदद की जाए. तकनीकी बाधाओं से दूर किसी नेचर कैम्प में बिताया गया एक हफ्ता बच्चों के मन में प्रकृति मां के लिए प्रेम का बीज बोने में बड़ी प्रेरणा का काम करेगा और उन्हें संतुलित व अच्छी जिंदगी जीने के लिए प्रकृति तथा पर्यावरण के महत्व को समझने का मौका भी देगा. नेचर कैम्प के अन्य फायदों में शामिल हैं. आराम करने, बांटने, खोजने और प्रकृति के बारे में ढेर सारी अद्भुत बातें सीखने के लिए मिलने वाला ढेर सारा समयए नेचर फोटोग्राफी, बर्ड वॉचिंग और इकोफ्रेंडली माहौल का आनंद लेना. पैरेंट्सए यही समय है अपने बच्चे को प्रकृति के करीब लाने का.

4. पढ़ने का आनंद

किताबों से अच्छा और सच्चा दोस्त और कोई नहीं होता. बच्चों में कम होती पढ़ने की आदत दुनिया भर में चिंता का विषय है. पढ़ने की आदत बच्चे की शिक्षा में केंद्रबिंदु की तरह होती है और यह बच्चे को स्कूल के बाद की जिंदगी के लिए तैयार होने का अवसर देती है. यह बच्चों को भावनात्मक तौर पर, सामाजिक तौर पर, बुद्धिमता के स्तर पर और सांस्कृतिक स्तर पर विकसित होने में मदद करती है.

5. दिमाग को तैयार करें

अगर आपका बच्चा 3-5 साल की उम्र का है, तो आपके पास करने को बहुत कुछ है. इन प्यारे, नन्हें बदमाशों को किसी चीज में व्यस्त करना एक कठिन काम है.ऐसे में प्ले सेट्स बच्चों को प्रोग्रामिंग की दुनिया में कल्पनाशीलता और खोज के लिए प्रोत्साहित करते हैं और जेंडर-न्यूट्रल खेल उपलब्ध करवाते हैं जो बच्चे की रचनात्मकताए समीक्षात्मक विचार क्षमताएं अंतरिक्ष संबंधी जागरूकता और कम्युनिकेशन स्किल में इजाफा करते हैं.
Tej Pratap Yadav- Aishwarya Rai Marriage: तेज प्रताप-ऐशवर्या राय की शादी बचाने के लिए विंध्यवासिनी माता की शरण में पहुंचा लालू परिवार, 11 दिन का यज्ञ शुरू

Tej Pratap Yadav- Aishwarya Rai Marriage: तेज प्रताप-ऐशवर्या राय की शादी बचाने के लिए विंध्यवासिनी माता की शरण में पहुंचा लालू परिवार, 11 दिन का यज्ञ शुरू

Tej Pratap Yadav- Aishwarya Rai Marriage तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या राय की शादी को बचाने के लिए लालू परिवार अब विंध्यवासिनी माता की शरण में पहुंचा है. विंध्यवासिनी मंदिर में तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या राय की शादी को बचाने के लिए 11 दिनों का महायज्ञ शुरु हो चुका है.
Mata rani photo

मिर्जापुर: खतरे में पड़ी तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या राय की शादी को बचाने के लिए लालू परिवार विंध्वासिनी देवी की क्षरण में पहुंच गया है. तेज प्रताप-ऐश्वर्या राय की शादी बचाने के लिए विंध्वासिनी देवी मंदिर में 11 पंडित 11 दिनों तक पूजा कर रहे हैं जिसकी पूर्ण आहुति गुरुवार रात को डाली जाएगी.
लालू परिवार की तरफ से पूजा करा रहे पंडित राज मिश्रा के मुताबिक तेज प्रताप के नाम से हवन पूजा की जा रही है ताकि वो तत्काल चल रही समस्या से बाहर निकल सकें. पंडित राज मिश्रा के मुताबिक लालू परिवार का मां विंध्वासिनी में अटूट विश्वास है और वो अक्सर यहां आते हैं. विंध्वासिनी मंदिर यूपी बॉर्डर स्थित मिर्जापुर में है.
पंडित राज मिश्रा के मुताबिक उन्होंने भी तेज प्रताप यादव से फोन पर बात की जिस दौरान तेज प्रताप ने उनसे कहा कि वो माता से उनके लिए प्रार्थना करें. उन्होंने ये भी कहा कि लालू परिवार से वो लगातार संपर्क में हैं और उनके परिवार पर आई इस विपदा को निवारण के लिए वो लगातार पूजा और हवन कर रहे हैं.
गौरतलब है कि बिहार सरकार में पूर्व मंत्री रह चुके तेज प्रताप यादव ने पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक की अर्जी दाखिल की है और तब से वो घर नहीं लौटे हैं. पहले वो अपने पिता से मिलने रांची के रिम्स अस्पताल गए फिर वहां से पटना लौटने के रास्ते में गया रुक गए और फिर वहां से विंध्याचल होते हुए हरिद्वार पहुंच गए हैं.
जीवन में सफल होना है तो इन पांच वाक्यों को जीवन से निकाल दें

जीवन में सफल होना है तो इन पांच वाक्यों को जीवन से निकाल दें

जीवन में सफल होना है तो इन पांच वाक्यों को कूड़े में फेंक दो.. लोग क्या कहेंगे, मुझसे नहीं होगा, मेरा मन नहीं है, मेरी किस्मत खराब है, मेरे पास वक्त नहीं है।
जीवन में सफल होना है तो इन पांच वाक्यों को जीवन से निकाल दें
खुद को सफल देखना चाहते हो तो आज से खुद को सफल मानना शुरू कर दीजिए... क्योंकि सफलता की छाप पहले हमारे दिमाग में बनती है बाद में सच्चाई बनकर सामने आती है।
जीवन में सफल होना है तो इन पांच वाक्यों को जीवन से निकाल दें
वक्त बीत जाए तो लोग भुला देते हैं, बेवजह लोग अपनों को भी रुला देते हैं, जो दिया रात भर रोशनी देता है लोग सुबह होते उसे भी बुझा देते हैं।
जीवन में सफल होना है तो इन पांच वाक्यों को जीवन से निकाल दें
इस संसार में सबसे बढ़िया दवा, हंसी... सबसे बढ़िया संपत्ति, बुद्धि.. सबसे अच्छा हथियार, धैर्य...सबसे अच्छी सुरक्षा, विश्वास.. और आनंद की बात तो यह है कि यह सब निःशुल्क है।

Thursday, November 8, 2018

प्यार में कभी धोखा नही देती हैं ये 3 नाम की लड़कियाँ, रहती हैं हमेशा वफादार

प्यार में कभी धोखा नही देती हैं ये 3 नाम की लड़कियाँ, रहती हैं हमेशा वफादार

हर इंसान इस जमाने मे एक सच्चे प्यार की तलाश में रहता है ताकि वो उसे कभी धोखा न दे और हमेशा उसके साथ रहे। सभी लड़के और लड़कियां यही सोचते हैं अपने जीवनसाथी के बारे में, लेकिन क्या ऐसा होता है।

आज के इस दौर में सच्चा प्यार तो मिलना इतना मुश्किल है जितना आप सोच भी नही सकते। इस जमाने मे जिस इंसान को एक सच्चा प्यार मिल जाये उसकी जिंदगी स्वर्ग से कम नही। ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार ऐसी कुछ राशियों की लड़कियां हैं जो कि सच्ची और प्यार में कभी धोखा नही देने वाली लड़कियां होती हैं। आइये जानते हैं वे 3 नाम की लड़कियां कौन हैं।
प्यार में कभी धोखा नही देती हैं ये 3 नाम की लड़कियाँ, रहती हैं हमेशा वफादार

वे 3 नाम की लड़कियां कोई और नही बल्कि S, A और Z नाम की लड़कियां हैं। ऐसा माना जाता है कि ये लड़कियां बहुत ही खूबसूरत और नर्म दिल की लड़कियां हैं जो कि बहुत ही ज्यादा इमोशनल भी होती हैं। ऐसी लड़कियों के अंदर पत्नी व्रता के गुण पाए जाते हैं और ये अपने पति को कभी धोखा नही देती और हमेशा उनसे सच्चे दिल से प्यार करती हैं।
भारत और विश्व इतिहास में 07 नवंबर की प्रमुख घटनाएं

भारत और विश्व इतिहास में 07 नवंबर की प्रमुख घटनाएं

विश्व इतिहास

नयी दिल्ली. 07 नवंबर (वार्ता) भारत और विश्व इतिहास में 07 नवंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं:
1862 - मुग़ल सल्तनत के अंतिम शासक बहादुर शाह द्वितीय की म्यांमार की राजधानी रंगून (अब नैप्यीडॉ)में मौत।
1876 - बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय ने बंगाल के कांतल पाडा नाम के गांव में वन्दे मातरम् गीत की रचना की।
1888 -प्रसिद्ध वैज्ञानिक चंद्रशेखर वेंकट रमन जन्म।
1917 - रूस में सफल बोल्शेविक क्रांति।
1951 - जार्डन में संविधान पारित किया गया।
1968 - तत्कालीन सोवियत संघ ने परमाणु परीक्षण किया।
1996 - अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने मार्स ग्लोबल सर्वेयर का प्रक्षेपण किया।
1998 - दुनिया के सबसे बुजर्ग अंतरिक्षयात्री जॉन ग्लेन धरती पर सुरक्षित लौटे।
2002 -ईरान ने अमेरिकी उत्पादों के विज्ञापन पर प्रतिबंध लगाया।

2003 - अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति जार्ज बुश ने गर्भपात पर रोक सम्बन्धी विधेयक पर हस्ताक्षर किया।
2006 - भारत और आसियान देश विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विकास के लिए एक फ़ंड बनाने पर सहमत हुए।
2008 - कश्मीर के प्रसिद्ध कवि रहमान राही को ज्ञानपीठ पुरस्कार प्रदान किया गया।
2012 - ग्वाटेमाला में भूकंप, 52 की मौत।
अनोखा गांव, यहां नहीं है एक भी पुरूष, लेकिन फिर भी महिलाएं हो रही है गर्भवती

अनोखा गांव, यहां नहीं है एक भी पुरूष, लेकिन फिर भी महिलाएं हो रही है गर्भवती

Pregnancy

नई दिल्ली। हर गांव की अपनी एक अलग ही कहानी होती है। आज हम आपको एक ऐसें अनोखे गांव के बारें में बताने जा रहे है जहा पिछले 27 साल से कोई मर्द नहीं आया लेकिन उस गांव में रहने वाली औरतें गर्भवती हो जाती है। जी हां, आप शायद इस बात पर यकीन ना करें लेकिन ये सच है।

दरअसल, 27 सालों से इस गांव में सिर्फ महिलाएं ही रहती हैं। कांटों की फेंसिंग में जकड़ा केन्या के समबुरू का उमोजा गांव बेहद खास है। इसके पीछे वजह यहां रह रहा समुदाय है, जिसमें सिर्फ महिलाएं हैं। पिछले 27 साल से यहां एक भी पुरुष नहीं है।

Tuesday, November 6, 2018

दिवाली के दिन दरवाजें पर रखें ये चीज घर में आएंगी लक्ष्मी, फले-फूलेगा व्यापार

दिवाली के दिन दरवाजें पर रखें ये चीज घर में आएंगी लक्ष्मी, फले-फूलेगा व्यापार

लक्ष्मी
दिवाली इस बार नवबंर के महीने में 7 तारीक पड़ी है। इस दिन सभी लोग मां लक्ष्मी और भगवान गणेश का ध्यान करके उनका आशीर्वाद लेते हैं। आपके घर में मां लक्ष्मी तो आपके दरवाजें के जरिए ही आएंगी। ऐसे में आपके लिए ये जानना बेहद जरूरी है की मां लक्ष्मी के स्वागत के लिए और घर के दरवाजे पर ऐसा क्या करें जिससे मां लक्ष्मी खुशी होकर आपके घर में वास करें।
दिवाली पर देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए मुख्य द्वारा की साफ – सफाई से लेकर दरवाजें को सजाने का अपना एक ēखास महत्व होता है। दिवाली वाले दिन हर कोई ये चाहता है कि उन्हें मां लक्ष्मी का आशीर्वाद मिलता रहें। इसके लिए वो अनेकों उपाय भी करते हैं।कार्तिक अमावस्या की रात काफी अंधेरी वाली होती है। ऐसे में इस दिन दीए जलाकर चारों तरफ रोशनी की जाती है। इस दिन मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा की जाती है। वहीं, दरवाजें पर किन चीजों को रखने से मां लक्ष्मी आती है इसके बारे में हम आपको बताते हैं ताकि आपके घर में सुख समृद्धि बनी रहें…
– मां लक्ष्मी जी के पैर का चिन्ह घर के दरवाजे पर जरूर लगाए। चिन्ह लगाते वक्त इस बात का ध्यान जरूर रखें कि पैर की दिशा अपने दरवाजें के अंदर की तरफ हो। ऐसा करने से आप मां लक्ष्मी को घर में आने का आमंत्रण देते हैं।
– घर के दरवाजे पर यदि आप चांदी का स्वास्तिक लगाते है तो वह काफी शुभ माना जाता है। क्योंकि वास्तु के मुताबिक इससे घर में किसी भी तरह की बीमारी नहीं आती।
– दिवाली से पहले घर के दरवाजे पर खूबसूरत और रंगबिरंगा तोरण बांधे। ऐसा करने से आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं आती हैं।
दिवाली के दिन दरवाजें पर रखें ये चीज घर में आएंगी लक्ष्मी, फले-फूलेगा व्यापार
– यहां तक की आप अपने घर में अष्ठमंगला का चिन्ह भी लगा सकते हैं। अष्ठमंगला के ऊपर कमल रखा जाता है और जैसे की मां लक्ष्मी कमल पर विराजती होती हैं तो इससे घर में उनका वास रहता है।
– दरवाजे पर आप रंगोली का इस्तेमाल करते हुए स्वास्तिक या फिर ओम का चिन्ह बनाए।

12वें ओवर में अखिलेश यादव के पास खड़ी खूबसूरत महिला आखिर है कौन?

12वें ओवर में अखिलेश यादव के पास खड़ी खूबसूरत महिला आखिर है कौन?

क्रिकेट की दुनिया में आप सभी लोगों का हार्दिक स्वागत है। भारत और वेस्टइंडीज के बीच हुए दूसरे टी-20 मैच में भारत ने वेस्टइंडीज को दूसरी बार बड़ी आसानी से हराकर सीरीज में कब्जा जमाया है। मैन ऑफ द मैच के हकदार बने रोहित शर्मा जिन्होंने 7 छक्के और 8 चौके जड़कर 61 गेंदों पर 111 रन बनाए।
T-20match

टॉस जीतकर वेस्टइंडीज भारतीय टीम को बल्लेबाजी करने का मौका दिया। शुरुवात में रोहित शर्मा और शिखर धवन ने साथ मिलकर सबसे ज़्यादा 123 रन की साझेदारी निभाई। 196 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज की टीम 20 ओवर में 124 रन ही बना पाई और भारत ने 71 रन से मैच जीत लिया । वही मैच के दौरान 12.4वें ओवर में मैदान में अखिलेश यादव नज़र आये।.
T-20match

वही मैच के समय अखिलेश यादव के पास एक खूबसूरत महिला खड़ी थी जो मैदान में सभी लोगों को हाथ दिखा रही थी। क्या आपको पता है कौन है वो महिला? आपको बतादे की उस महिला का नाम डिंपल यादव है जो अखिलेश यादव की पत्नी है। दोनों भारत और वेस्टइंडीज के मैच देखने के लिए लखनऊ के मैदान में आए थे।
T-20match

तो दोस्तो आपके हिसाब से कौन है दूसरे टी20 मैच का हीरो?आप हमें ज़रूर कमेंट कर अपनी राय दे। अगर आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगा तो शेयर करे, लाइक करे

Sunday, November 4, 2018

इंडिया की बड़ी जीत T20 मैच में

इंडिया की बड़ी जीत T20 मैच में

इंडिया की बड़ी जीत T20 मैच में


टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को कोलकाता में खेले गए पहले टी-20 मैच में 5 विकेट से मात दे दी है. भारत ने इसी के साथ ही तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है.


टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को कोलकाता में खेले गए पहले टी-20 मैच में 5 विकेट से मात दे दी है. भारत ने इसी के साथ ही तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. अगला टी-20 मैच 6 नवंबर को लखनऊ में दीपावली की पूर्व संध्या पर होगा. कोलकाता में खेले गए पहले टी-20 मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम ने 20 ओवर में 8 विकेट गंवा कर 109 रन बनाए और भारत को जीत के लिए 110 रनों का लक्ष्य दिया.


इंडिया ने बेस्ट इंडिया को हराया भारत की शानदार जीत | T20 India vs west India


जवाब में भारत ने 17.5 ओवर में 5 विकेट गंवा कर 110 रन बनाए और यह मैच 5 विकेट से अपने नाम कर लिया. टीम इंडिया के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने सबसे ज्यादा 31 रन बनाए. कार्तिक के अलावा डेब्यू करने वाले क्रुणाल पंड्या ने 9 गेंदों में 21 रनों की तूफानी पारी खेली. भारत की इस जीत में कुलदीप यादव और दिनेश कार्तिक का अहम योगदान रहा. कुलदीप यादव ने 3 विकेट लेकर वेस्टइंडीज को 109 रन जैसे मामूली स्कोर पर रोका. वहीं दिनेश कार्तिक ने नाजुक हालात में 31 रनों की पारी खेली.


भारत की पारी


वेस्टइंडीज की ही तरह भारत की शुरुआत भी खराब रही थी. कप्तान रोहित शर्मा को पहले ही ओवर में ओशेन थॉमस ने विकेट के पीछे दिनेश रामदीन के हाथों कैच कराया. रोहित ने 1 चौके की मदद से 6 रन बनाए. इसके बाद शिखर धवन (3) को भी थॉमस ने बोल्ड कर दिया दी. महेंद्र सिंह धोनी के रिप्लेस्मेंट ऋषभ पंत भी कुछ खास नहीं कर सके और ब्रैथवेट ने उन्हें डेरेन ब्रावो के हाथों कैच कराया. लोकेश राहुल ब्रैथवेट का  शिकार बने. वेस्टइंडीज के गेंदबाज खैरी पिएरे ने मनीष पांडे (19) को आउट कर भारत को पांचवां झटका दिया.


भारतीय गेंदबाजों के सामने इंडीज ने बनाए सिर्फ 109 रन


पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम ने 20 ओवर में 8 विकेट गंवा कर 109 रन बनाए और भारत को जीत के लिए 110 रनों का लक्ष्य दिया. भारत के खिलाफ यह मेहमान टीम का न्यूनतम स्कोर है. मेहमान टीम के लिए फेबियान एलन ने सबसे अधिक 27 रन बनाए.


एलन का यह पहला अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच है.भारतीय टीम की गेंदबाजी शानदार रही और कुलदीप यादव ने चार ओवर में केवल 13 रन देकर तीन महत्वपूर्ण विकेट लिए.अंतरराष्ट्रीय टी-20 में पर्दापण कर रहे क्रुणाल पंड्या और खलील अहमद को एक-एक विकेट मिला. उमेश यादव और जसप्रीत बुमराह ने भी एक-एक विकेट चटकाया.


ऐसे गिरे वेस्टइंडीज के विकेट्स


वेस्टइंडीज की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उन्हें पहला झटका तीसरे ही ओवर में लगा, जब उमेश यादव की गेंद पर दिनेश रामदीन कार्तिक के हाथों लपके गए. रामदीन 2 रन बनाकर आउट हुए. चौथे ओवर में शाई होप अपने साथी शिमरोन हेटमेयर के साथ बल्लेबाजी करते हुए गलतफहमी का शिकार हुए और रन आउट हो गए.


होप 14 रन बनाकर आउट हुए. पांचवें ओवर में शिमरोन हेटमेयर (10) को कार्तिक के हाथों कैच कराकर बुमराह ने वेस्टइंडीज को तीसरा झटका दे दिया. इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले भारत के ऑलराउंडर क्रुणाल पंड्या ने चौथे ओवर में कीरोन पोलार्ड को मनीष पांडे के हाथों कैच कराकर वेस्टइंडीज को चौथा झटका दे दिया. डेरेन ब्रावो को कुलदीप यादव ने आउट कर इंडीज को पांचवां झटका दिया.


इसके बाद, कुलदीप यादव ने अपना जलवा बिखेरा और तीन विकेट चटका कर वेस्टइंडीज के बल्लेबाजी क्रम की कमर तोड़ दी. यादव ने डेरेन ब्रावो (5), रोवमैन पॉवेल (4) और कप्तान कार्लोस ब्रैथवेट (4) को पवेलियन की राह दिखाई.


इंटरनेशनल टी-20 में पर्दापण कर रहे फेबियन एलन को भारत की ओर से अपना पहला टी-20 मैच खेल रहे खलील अहमद ने 27 के निजी स्कोर पर अपना शिकार बनाया. कीमो पॉल ने नाबाद 15 और खैरी पिएरे ने नाबाद नौ रन बनाए.


भारत ने जीता था टॉस


टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया और वेस्टइंडीज को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. टीम इंडिया के लिए क्रुणाल पंड्या और खलील अहमद ने टी-20 इंटरनेशनल में अपना डेब्यू किया.


चोटिल भुवनेश्वर कुमार की जगह उमेश यादव इस मैच में टीम का हिस्सा हैं. मौजूदा टी-20 वर्ल्ड चैंपियन वेस्टइंडीज की ओर से ओशाने थॉमस, खैरी पिएरे, फाबियन एलन अंतरराष्ट्रीय टी-20 में पर्दापण कर रहे हैं.

इंडिया ने बेस्ट इंडिया को हराया भारत की शानदार जीत | T20 India vs west India

इंडिया ने बेस्ट इंडिया को हराया भारत की शानदार जीत | T20 India vs west India

इंडिया ने बेस्ट इंडिया को हराया भारत की शानदार जीत | T20 India vs west India

कोलकाता:  भारत और वेस्टइंडीज के बीच टी20 सीरीज के पहले टी20 मैच में वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया को जीत के लिए 110 रनों का लक्ष्य दिया. अंतिम ओवरों में वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों ने वापसी की और 100 ज्यादा स्कोर बनाने में कामयाब रहे. 19वें ओवर में उमेश यादव ने 16 रन लुटाए. टीम इंडिया के गेंदबाजों की बढ़िया गेंदबाजी की. टीम इंडिया के लिए कुलदीप यादव ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए. वेस्टइंडीज: 109/8 (20 ओवर)

Tagovailoa, No. 1 Alabama rolls past No. 4 LSU, 29-0

वेस्टइंडीज का 8वां विकेट फेबियन एलीन के रूप में गिरा. खलील अहमद ने अपना पहला टी20 इंटरनेशनल विकेट लेते हुए एलीन को 27 रन के निजी स्कोर पर उमेश यादव के हाथों कैच कराया.  वेस्टइंडीज: 87/8 (18 ओवर)

वेस्टइंडीज का सातवां विकेट कुलदीप यादव ने लिया. कुलदीप ने कप्तान ब्रैथवेट को एलबीडब्ल्यू किया. ब्रैथवेट केवल 4 रन बना सके. वेस्टइंडीज: 63/7 (15 ओवर)

वेस्टइंडीज का छठा विकेट कुलदीप यादव ने लिया. कुलदीप ने रोवमैन पावेल को विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के हाथों कैच कराया.  वेस्टइंडीज: 56/6 (12.3 ओवर)

वेस्टइंडीज का पांचवा विकेट डैरेन ब्रावो का गिरा. ब्रावो को कुलदीप ने लॉन्ग ऑफ पर शिखर धवन के हाथों कैच कराया. ब्रावो ने 10 गेंद पर 5 रन  बनाए.  वेस्टइंडीज: 49/5 (10.1 ओवर)

वेस्टइंडीज का चौथा विकेट केरन पोलार्ड के रूप में गिरा पोलार्ड को क्रुणाल पांड्या ने लॉन्ग ऑन पर मनीष पांडे के हाथों कैच कराया. क्रुणाल का यह पहल इंटरनेशनल टी20 विकेट है. पोलार्ड 26 गेंदों पर 14 रन बनाकर आउट हुए. वेस्टइंडीज: 47/4 (9.4 ओवर)

टीम इंडिया को तीसरी सफलता जसप्रीत बुमराह ने दिलाई. बुमराह ने शिमरोन हेटमायर को विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के हाथों कैच कराया. हेटमायर 7 गेंदों पर 10 रन बनाकर आउट हुए. वेस्टइंडीज के बल्लेबाज तेजी से खेलते रहे लेकिन उनके विकेट गिरते रहे.  वेस्टइंडीज: 29/3 (5 ओवर)

वेस्टइंडीज का दूसरा विकेट शाई होप का गिरा. होप को केएल राहुल और मनीष पांडे ने रन आउट किया. वेस्टइंडीज: 22/2 (3.1 ओवर)

टीम इंडिया को पहली सफलता उमेश यादव ने दिलाई. अपने दूसरे ओवर में उमेश ने वेस्टइंडीज के दिनेश रामदीन को विकेट केे पीछे दिनेश कार्तिक के हाथों कैच कराया. रामदीन पाच गेंद खेलकर केवल 2 रन बनाकर आउट हुए.  वेस्टइंडीज: 16/1 (2.1 ओवर)

टीम इंडिया के लिए पहला ओवर उमेश यादव ने फैंका. पहले ओवर में वेस्टइंडीज का स्कोर बिना किसी नुकसान के 8 रन हो गया था. इस ओवर में शाई होप ने दो चौके लगाए. वेस्टइंडीज: 8/0 (1 ओवर)

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. टीम इंडिया में भुवनेश्वर कुमार शामिल नहीं हैं उनकी अनुपस्थिति में उमेश यादव टीम की गेंदबाजी की अगुआई करेंगे. इसके अलावा युजवेंद्र चहल भी टीम इंडिया में नहीं हैं. क्रुणाल पांड्या को टीम में जगह मिली है.

टीम इंडिया की ओर से कृणाल पंड्या और खलील अहमद इस मैच से टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया. टेस्ट और वनडे सीरीज जीतने के बाद टीम इंडिया के लिए यह टी-20 सीरीज किसी भी लिहाज से आसान नहीं मानी जा रही है. टी-20 में वेस्टइंडीज की टीम बिल्कुल अलग और खतरनाक है क्योंकि यह मौजूदा टी-20 विश्व चैम्पियन है. इसके बावजूद वेस्टइंडीज टी20 टीम के लिए यह साल खराब ही रहा है.

यह पहला मौका है जब दोनों टीमें भारत में कोई सीरीज खेल रहीं हैं. टीम इंडिया ने अब तक कुल 13 द्विपक्षीय सीरीज जीती हैं. इन में उसे 10 में जीत, एक सीरीज ड्रा और दो में हार मिली है. ये दोनों ही हार वेस्टइंडीज के खिलाफ मिली है. इस टी-20 सीरीज में टीम इंडिया का सामना मौजूदा विश्व विजेता से है.

भारतीय टीम: रोहित शर्मा (उपकप्तान), शिखर धवन, लोकेश, राहुल, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), ऋषभ पंत, कुलदीप यादव,  क्रूणाल पांड्या, जसप्रीत बुमराह और खलील अहमद.

वेस्टइंडीज: कार्लोस ब्राथवेट (कप्तान), फाबियान एलान, डारेन ब्रावो, शिमरोन हेटमायेर, इविन लुइस, ओबेड मैक्कोय, एशले नर्स, कीमो पॉल, खैरी पिएरे, केरन पोलार्ड, रोवमैन पावेल, दिनेश रामदीन (विकेटकीपर), आंद्रे रसेल, शेरफेन रथरफोर्ड, ओशाने थॉमस.

परंतु इंडियन बेस्ट इंडिया को बहुत ही बुरी  तरह हराया है और यह इंडिया की सबसे शानदार जीता इंडिया में सबसे बड़ी चीज है और इंडिया के लिए यह बहुत ही बड़ी उपलब्धि है इंडिया जीत जीत गई वेस्ट इंडिया को बुरी तरह हराया इंडिया द्वारा !